वन्य जीवन एवं पर्यावरण

International Journal of Environment & Agriculture ISSN 2395 5791

Breaking

बीती सदी में बापू ने कहा था

"किसी राष्ट्र की महानता और नैतिक प्रगति को इस बात से मापा जाता है कि वह अपने यहां जानवरों से किस तरह का सलूक करता है"- मोहनदास करमचन्द गाँधी

ये जंगल तो हमारे मायका हैं

Showing posts with label lakhimpur. Show all posts
Showing posts with label lakhimpur. Show all posts

Feb 24, 2021

भारत नेपाल सीमा के आखिरी गांव चौगुरजी में लगाया गया निःशुल्क स्वास्थ्य शिविर

February 24, 2021 0
नदियों और जंगलों से घिरे इस गांव को श्रीलंका भी कहते है लोग शिव कुमारी देवी मेमोरियल ट्रस्ट की तरफ से निःशुल्क स्वास्थ्य शिविर में तीन सौ से...
Read more »

Feb 9, 2020

विश्व दाल दिवस

February 09, 2020 0
दन्या अल्मोड़ा की एक दुकान में भट्ट और राजमा की दाल  - 10 फरवरी 2020 दालें जो जीवन देती हैं हमें और मिट्टी को भी -कृष्ण कुमार मि...
Read more »

Sep 30, 2019

ये पिंडारा केवल वृक्ष नही हमारी संस्कृति का हिस्सा है

September 30, 2019 2
एक भूली बिसरी वनस्पति क़भी गांवों में सब्जियों में ख़ूब होते थे इस्तेमाल इसके फ़ल चरवाहों में लोकप्रिय था यह पेड़ जिसकी छांव और जिसके फ़ल...
Read more »

Oct 12, 2018

दुधवा में तीन हजार तोते बरामद, तीन शिकारी गिरफ्तार

October 12, 2018 0
दुधवा जंगल से तीन हजार तोतों का शिकार करने वाले तीन आरोपियों को मुखबिर की सूचना पर पहुंची वन विभाग की टीम ने धर दबोचा। मौके से टीम को ...
Read more »

Feb 15, 2017

Feb 5, 2017

पीहर वृक्ष दान परम्परा की खीरी जनपद से हो रही है शुरुआत

February 05, 2017 0
पर्यावरण को संवर्धित करने की एक नई मुहिम- पीहर वृक्ष दान परम्परा। दिनांक 6 फरवरी सायं गोला के गौरी बैंक्विट हाल में दुधवा लाइव अंत...
Read more »

Jul 10, 2016

यूपी प्रेस क्लब लखनऊ में आयोजित हुई तालाब सरंक्षण पर राष्ट्रीय कार्यशाला

July 10, 2016 0
लखीमपुर से शुरू तालाब बचाओ अभियान अब प्रदेश व् देश स्तर पर- सात दिवसीय जल-यात्रा का समापन हुआ यू पी प्रेस क्लब लखनऊ में- ...
Read more »

Jun 18, 2016

जर्मनी द्वारा अंतर्राष्ट्रीय पुरस्कार "द बॉब्स" से सम्मानित पत्रिका "दुधवा लाइव"

हस्तियां

पदम भूषण बिली अर्जन सिंह
दुधवा लाइव डेस्क* नव-वर्ष के पहले दिन बाघ संरक्षण में अग्रणी भूमिका निभाने वाले महा-पुरूष पदमभूषण बिली अर्जन सिंह

एक ब्राजीलियन महिला की यादों में टाइगरमैन बिली अर्जन सिंह
टाइगरमैन पदमभूषण स्व० बिली अर्जन सिंह और मैरी मुलर की बातचीत पर आधारित इंटरव्यू:

मुद्दा

क्या खत्म हो जायेगा भारतीय बाघ
कृष्ण कुमार मिश्र* धरती पर बाघों के उत्थान व पतन की करूण कथा:

दुधवा में गैडों का जीवन नहीं रहा सुरक्षित
देवेन्द्र प्रकाश मिश्र* पूर्वजों की धरती पर से एक सदी पूर्व विलुप्त हो चुके एक सींग वाले भारतीय गैंडा

Post Top Ad

Your Ad Spot