International Journal of Environment & Agriculture
ISSN 2395 5791
"किसी राष्ट्र की महानता और नैतिक प्रगति को इस बात से मापा जाता है कि वह अपने यहां जानवरों से किस तरह का सलूक करता है"- मोहनदास करमचन्द गाँधी

जर्मनी द्वारा अंतर्राष्ट्रीय पुरस्कार "द बॉब्स" से सम्मानित पत्रिका "दुधवा लाइव"

Dec 23, 2014

आज का दिन मुक़र्रर है अन्नदाता के नाम...



23 दिसंबर 2014 किसान दिवस

समाजवाद का ये ही नारा- नही मरा किसान हमारा !

गत 26 फरवरी को विधान सभा सत्र में उत्तर प्रदेश के बाँदा जिले से कांग्रेस के विधायक दलजीत सिंह ने और हमीरपुर से भाजपा विधायक साध्वी निरंजन ज्योति ने बुंदेलखंड में किसान आत्महत्या और कर्ज से खुदकुशी का मामला प्रश्नकाल में उठाया.

साध्वी निरंजन ने बाकायदा किसानो के नाम गिनवाकर सदन से पूछा कि बुंदेलखंड का किसान कर्ज से टूट कर आत्महत्या क्यों कर रहा है ? अब तक कितने किसानो ने बुंदेलखंड में आत्महत्या की है ?


उन्होंने राजस्व मंत्री अम्बिका चौधरी से जानना चाहा कि किसानो का इस बेमोसम बारिस से कितना नुकसान हुआ , किसान को कितना मुआवजा दिया जायेगा और कब ? इस पर जवाब में सपा के शिवपाल सिंह यादव और राजस्व मंत्री ने कहा कि बुंदेलखंड का आज तक कोई किसान कर्ज से नहीं आत्महत्या किया है ! जबकि बीते साल के अंत तक बुंदेलखंड में 3269 किसानो ने कर्जखोरी में आत्महत्या की है l और 7 जनवरी 2014 से 14 नवम्बर 2014 तक कुल 58 किसान आत्महत्या से जान दिए है जहाँ तक कर्जमाफी का सवाल है तो समाजवादी सरकार ने बुंदेलखंड में 29928 किसानो का 62 करोड़ 82 लाख 74 हजार 617 रुपया कर्जा माफ़ किया है ! यहाँ ये भी बतलाना है कि बुंदेलखंड का अधिकतर किसान बड़े बैंक मसलन एसबीआई, इलाहाबाद यू.पी. ग्रामीण बैंक अन्य का कर्जा लिए है जबकि न के बराबर किसान कापरेटिव बैंक से कर्जा लिए है जिसका कर्जा समाजवादी सरकार ने माफ़ी किया है.



  चुनाव पूर्व इसी सरकार के नेताओ ने किसानो का पूरा कर्जा माफ़ किये जाने की घोषणा की थी सरकार ने कभी ये माना ही नही कि कोई किसान कर्ज से मर रहा है ये सरकार रही हो या और कोई  मगर हाँ जब जिसकी सरकार नही होती है तो अवश्य विपक्षी दल किसान को मुद्दा बनाने का काम कर रहा होता है सत्ता आने पर सब भूल जाते है इस किसान को  लोकसभा चुनाव 2014 में हर पार्टी का अपना चुनावी मेनिफेस्टो – घोषणा पत्र बना. विकास के बरगलाने वाले और अच्छे दिनों के ख्याली मुद्दों के साथ केंद्र सरकार भी बन गई.

 माननीय लोगो के अगर पिछले 5 साल के रिपोर्ट कार्ड देखे जाये तो शायद कोई सांसद अपने मतदान क्षेत्र में एक माह भी लगातार रहा हो ये बड़ी बात है क्यों हर लोकसभा या विधान सभा क्षेत्र का घोषणा पत्र वहां की आवाम या किसान के साथ बैठकर तैयार नही किया जाता है ? आखिर क्यों जनता से ये नही पूछना वाजिब समझा जाता है कि आपको विकास किन शर्तो पर और किस स्वरुप में चाहिए ?



केन – बेतवा नदी गठजोड़ जैसी प्रकृति विरोधी बांध परियोजना बनाकर केन्द्रीय जल संसाधन मंत्री उमा भारती कौन सा जल संकट समाधान करने जा रही है ? नपुंसक बीजो पर खेतो में तैयार होती फसले सरकारी खाद और बीज गोदाम के चक्कर लगाकर कमीशन खोरी में तरबतर है. ओला, पाला या सूखे से टूटे खेतो की जान लेने का ज़िम्मेदार ये किसान नीतियाँ ही है जिनमे किसान हित नही होता बल्कि यूज़ कर्जदार , मुफ्तखोर बना देने की साजिश होती है. 

यह सियासत को ही तय करना पड़ेगा, किसान को गर अन्नदाता मानकर चलते है तो चुनाव के पहले और बाद में उसको कृषि नीति में सहभागी नियोक्ता के रूप में रखना चाहिए. नदी – बांध परियोजना बनाते समय किसान – आदिवासी लोगो से सुझाव लेना चाहिए.


आशीष सागर दीक्षित (लेखक बुंदेलखंड की जल जंगल और जमीन के मसायल पर संघर्षशील सामाजिक कार्यकर्ता, पत्रकार व् प्रवासनामा पाक्षिक पत्रिका के संपादक है इनसे prawasnama@gmail.com पर संपर्क कर सकते है ) 

12 comments:

  1. ‘भारत- निर्माण’ ‘अतुल्य- भारत’ तथा ‘इंडिया विज़न- २०२०’ जैसे आकर्षक और लोकलुभावन नारों के बीच आज हमें २१वीं सदी में आये एक दशक से ज़्यादा हो चुका है। क्या वाकई हम अपने आप को उपरोक्त आदर्शवादी और आशावादी सपने को वास्तविक धरातल पर पाते है??
    कहा जाता है की मनुष्य स्वयं अपने भाग्य का निर्माता होता है। इतिहास साक्षी है हमारे ‘भाग्य निर्माण’ का और ‘भारत निर्माण’ का। भारत के ३५ राज्यों / केन्द्रशासित प्रदेशों, ६४० जिलों, ५९२४ तहसीलों / तालुकों, ७९३३ कस्बों (४०४१ सांविधिक नगर और ३८९२ जनगणना नगर) तथा ६.४१ लाख गांव और गावों का भाग्य निर्माता, भारतीय ग्रामीण किसान। हमारी अर्थव्यवस्था की रीढ़ कृषि तथा उसकी मजबूती का मूलाधार ग्रामीण कृषक ! जो कड़ी धूप, मुसलाधार बारिश- सूखे की मार सहकर जब यह घुटनों तक कीचड़ से भरे खेतों में जाता है तो सुगन्धित बासमती एवं भारत के १२१०५६९५७३ करोड़ (२०११ की जनगणना के अंतिम आकड़ों पर आधारित) लोगों की रोटी का इंतजाम होता है, पर विडम्बना ये कि आज तक कभी कोई राष्ट्रीय नागरिक सम्मान इन्हें नहीं मिला। आज नयी सदी के भारत की ब्रिटिश नीति ‘इंडिया’ अपने भाग्य निर्माता का मूल्याकन नहीं करना चाहती ……..और करे भी क्यों ?……….क्योंकि गुलाम मानसिकता वाले राष्ट्र का मूल्यांकन करे कौन ??
    आज जब हम अपनी प्राचीन गौरवशाली सांस्कृतिक परम्परा का सिंहावलोकन करे तो पाते है कि इस सांस्कृतिक समृध्दि के पीछे एक मजबूत आर्थिक- सामाजिक अवसंरचना का कितना महत्वपूर्ण योगदान रहा है। तभी हम संसार की प्राचीनतम सजीव सभ्यता एवं संस्कृतियों में से है।
    वर्तमान परिदृश्य में हमारी समाजगत जटिलता के मूल में, सांस्कृतिक समन्वय एवं ग्रामीण सामाजिक अधोसंरचना तथा एक राष्ट्र की अवधारणा की केन्द्रीय भूमिका से कोई भी इनकार नहीं कर सकता है। फिर भी आज सबसे ज्यादा उपेक्षित और तिरस्कृत यही पक्ष ‘भारत’ है। हमारी दिव्आयामी मानसिकता तथा उससे उपजी दिव् राष्ट्र की अवधारणा ……जिसमे पहला पक्ष ‘भारत’ और दूसरा पक्ष ‘इन्डिया’।
    आज हमारे सामने की द्वन्द की स्थिति है, जिसमें यही दोनों पक्ष आमने सामने है और उसमे भी ‘इन्डिया’ का पक्ष ‘भारत’ पर हावी है।
    आज हमारे पास नारे तो बड़े मनोहारी तथा दावे बड़े तर्कशील हैं, किन्तु वास्तविकता में उन्हें क्रियान्वित करने की दृढ़ इच्छाशक्ति एवं मजबूत संकल्पशक्ति का सर्वथा आभाव सा दृष्टिगत होता है। इतनी विशाल शक्ति का स्वामी होने तथा उसमें भी युवाओं की प्रतिशतता आधे से कही ज़्यादा होने के बावजूद ‘आज का युवा भारत’ क्यों २१वीं सदी में ‘विकासशील से विकासोन्मुख’ के बीच ही मैराथन दौड़ का हिस्सा मात्र बना हुआ है? जहाँ तक मेरी समझ है इसका मूल स्रोत महज़ किताबी ज्ञान है क्योंकि इस देश में एयरकंडीसन कमरों में बैठकर जमीन से जुड़ी नीतियों / नियमों का क्रियान्वयन उन हाथों में सौपा जाता है जिनका वास्तविक रूप में उस विषयवस्तु से दूर दूर तक कभी कोई ताल्लुक रहा ही नहीं।
    आज हम जनसंख्या- विस्फोट का हवाला देते हुए उसके केवल नकारात्मक पक्ष की ही बात करते है, हमारा ध्यान उसके दुसरे सकारात्मक पक्ष उसके विशाल और मानव शारीरिकी एवं बौद्धिक सम्पदा पर क्यों नहीं जाता जो की एक मजबूत अर्थव्यवस्था का आधार है। बाजारीकरण के इस युग में आज इस विशाल बाज़ार पर अपनी गिद्ध दृष्टि जमाए बहुराष्ट्रीय कम्पनियाँ जिस तीव्र गति से अपने पाँव पसार रही है उससे क्या निष्कर्ष निकला जा सकता है ?
    निष्कर्ष सिर्फ इतना ही नहीं होगा की इंडिया सिर्फ एक Economic Hub के रूप में विकसित होता एक बड़ा अन्तर्राष्ट्रीय बाज़ार दिखता तो प्रतीत होगा ……..बल्कि निष्कर्ष ये भी होगा कि भारत गरीबी भुखमरी और गुलामी की तरफ भी बढ़ेगा। आज यह गुलामी हमारी मानसिक और बौद्धिक गुलामी का प्रतीक बन रही है।
    पिछले ६ दसको में देश बदला है पर आम आदमी की जिंदगी और मुश्किल हुई है। जो हजारो टन अनाज सड़ रहा है वो ऐसे ही सड़ता रहेगा। गरीब चाहे भूखा मरे पर स्टाइल मारने का हक तो उसे भी है…..उसके झोपड़ों तक बिजली, पीने का साफ पानी नहीं पहुंचा पर टीवी पहुंचा दी गई, ताकि मूर्खों के स्वप्रलोक में वह भी मगन रहे, राजनीति का एक सिद्धांत है …अगर जनता को तुम रोटी नहीं दे सकते तो उन्हें सर्कस दिखाओ !

    ReplyDelete
  2. पहला सारी नदियां पी गया
    क्योंकि वह बहुत प्यासा था

    दूसरा सारे जंगल भकोस गया
    क्योंकि वह बहुत भूखा था

    तीसरा सारी जमीन हड़प गया
    क्योंकि उसका कुनबा बहुत बड़ा हो गया था

    ऐसा कहती हैं सरकारी रपटें

    और जब हम अपनी भूख प्यास
    और छत की बात करते हैं
    सरकारी रपटें कुछ नहीं कहती
    पुलिस का बयान कहता है
    कुछ अतिवादी लोग मार गिराए गए हैं....!

    ReplyDelete
  3. किस सरकार से उम्मीद लगाए हैं जो ख़ुद भूमि अधिग्रहण जैसे तमाम कानूनों, नीतियों को बदलना ही अपनी मुख्य नीति बनाए है!!??...छत्तीसगढ़, झारखण्ड, उत्तराखण्ड तो सब इन्हीं के सताए हुए हैं!! बड़े पैमाने पर कृषि भूमि और किसान तबाह किए जा रहे हैं!!...कुछ इनसे ज़्यादा आगे हमें सोचने की ज़रूरत है!!...

    ReplyDelete
  4. हम सरकार अनुमोदित कर रहे हैं और प्रमाणित ऋण ऋणदाता हमारी कंपनी व्यक्तिगत से अपने विभाग से स्पष्ट करने के लिए 2% मौका ब्याज दर पर वित्तीय मदद के लिए बातचीत के जरिए देख रहे हैं जो इच्छुक व्यक्तियों या कंपनियों के लिए औद्योगिक ऋण को लेकर ऋण की पेशकश नहीं करता है।, शुरू या आप व्यापार में वृद्धि एक पाउंड (£) में दी गई हमारी कंपनी ऋण से ऋण, डॉलर ($) और यूरो के साथ। तो अब एक ऋण के लिए अधिक जानकारी के लिए हमसे संपर्क करना चाहिए रुचि रखते हैं, जो लोगों के लागू होते हैं। उधारकर्ताओं के डेटा की जानकारी भरने। Jenniferdawsonloanfirm20@gmail.com: के माध्यम से अब हमसे संपर्क करें
    (2) राज्य:
    (3) पता:
    (4) शहर:
    (5) सेक्स:
    (6) वैवाहिक स्थिति:
    (7) काम:
    (8) मोबाइल फोन नंबर:
    (9) मासिक आय:
    (10) ऋण राशि की आवश्यकता:
    (11) ऋण की अवधि:
    (12) ऋण उद्देश्य:

    हम तुम से जल्द सुनवाई के लिए तत्पर हैं के रूप में अपनी समझ के लिए धन्यवाद।

    ई-मेल: jenniferdawsonloanfirm20@gmail.com

    ReplyDelete
  5. आप तत्काल ऋण की जरूरत है?
    * आपके बैंक खाते में बहुत तेजी से और तत्काल हस्तांतरण
    आप में पैसा पाने के बाद * चुकौती नौ महीने के शुरू होता है अपने

    बैंक खाते
    2% की * कम ब्याज दर
    * लंबे समय तक चुकौती (1-30 वर्ष) की अवधि
    * लचीला ऋण की शर्तों और मासिक भुगतान
    *। कब तक यह निधि के लिए ले करता है? ऋण आवेदन पत्र प्रस्तुत करने के बाद,

    आप उम्मीद कर सकते हैं प्रारंभिक जवाब यह है कि कम से कम 24 घंटे और

    जरूरत है कि हम जानकारी प्राप्त करने के बाद 72-96 घंटे के भीतर वित्त पोषण

    आप से।

    अधिकृत वैध और लाइसेंस प्राप्त ऋण कंपनी से संपर्क करें
    अन्य देशों के लिए है कि वित्तीय सहायता।
    अधिक जानकारी और अब से संपर्क के माध्यम से एक ऋण आवेदन पत्र के लिए

    ईमेल: trustloan87@gmail.com

    उत्तम संबंध,
    Mr.Anthony डेव।
    मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ)
    ट्रस्ट ऋण कंपनी

    ReplyDelete
  6. आप तत्काल ऋण की जरूरत है?
    * आपके बैंक खाते में बहुत तेजी से और तत्काल हस्तांतरण
    आप में पैसा पाने के बाद * चुकौती नौ महीने के शुरू होता है अपने

    बैंक खाते
    2% की * कम ब्याज दर
    * लंबे समय तक चुकौती (1-30 वर्ष) की अवधि
    * लचीला ऋण की शर्तों और मासिक भुगतान
    *। कब तक यह निधि के लिए ले करता है? ऋण आवेदन पत्र प्रस्तुत करने के बाद,

    आप उम्मीद कर सकते हैं प्रारंभिक जवाब यह है कि कम से कम 24 घंटे और

    जरूरत है कि हम जानकारी प्राप्त करने के बाद 72-96 घंटे के भीतर वित्त पोषण

    आप से।

    अधिकृत वैध और लाइसेंस प्राप्त ऋण कंपनी से संपर्क करें
    अन्य देशों के लिए है कि वित्तीय सहायता।
    अधिक जानकारी और अब से संपर्क के माध्यम से एक ऋण आवेदन पत्र के लिए

    ईमेल: trustloan87@gmail.com

    उत्तम संबंध,
    Mr.Anthony डेव।
    मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ)
    ट्रस्ट ऋण कंपनी

    ReplyDelete
  7. सभी ऋण चाहने वालों के लिए अच्छी खबर
    मैं लौरा जॉर्ज सीईओ, संघीय क्रडिट केंद्रीय वित्त पीएलसी हूँ, हम लाइसेंस प्राप्त, पंजीकृत और लोगों के लिए ऋण के सभी प्रकार के देने में माहिर और संगठनों के सहयोग कि अंतरराष्ट्रीय ऋणदाता मान्यता प्राप्त हैं। आप संविदा, के लिए ऋण की जरूरत होती है तो अगर परियोजनाओं, निवेश, निजी व्यवसाय, अच्छा ब्याज दर के साथ करों, बिल, शिक्षा, कार, घर, ऋण समेकन, फौजदारी और अन्य कई लोगों ऋण। हम 2% ब्याज दर के साथ, अधिकतम में 1 से 25 वर्ष की एक न्यूनतम के लिए ऋण प्रदान करते हैं। हमारे ऋण की पेशकश नीचे मुद्राओं में हैं .....
    ग्रेट ब्रिटेन पाउंड, संयुक्त राज्य अमेरिका डॉलर, कनाडा डॉलर, सिंगापुर डॉलर, ब्रुनेई डॉलर, मलेशियाई रिंगित, ऑस्ट्रेलियाई डॉलर आदि हम आप अपने पर्सनल में अपने ऋण की राशि प्राप्त है कि गारंटी और आश्वासन दिया जा रहा है के रूप में हम से एक ऋण प्राप्त करने में आप सबसे अच्छा संतुष्टि देता है बैंक खाते, एटीएम और क्रेडिट कार्ड। वेस्टर्न यूनियन / रिया धन / पैसा ग्राम। Laurageorgeloanfirm@gmail.com या laurageorgeloanfirm@hotmail.com के माध्यम से हमसे संपर्क करें

    ReplyDelete
  8. हैलो, यह डोनेगल वित्तीय समूह है एक सम्मानित, वैध और
    मान्यता प्राप्त ऋणदाता हम सभी प्रकार के ऋण को बहुत तेज में देते हैं और
    आसान तरीका। हम दोनों वाणिज्यिक ऋण, व्यापार ऋण, ऋण की पेशकश करते हैं
    समेकन, छात्र ऋण या अपनी पसंद के किसी भी प्रकार के ऋण पर 2%
    ब्याज दर। यदि आप रुचि रखते हैं तो इस ईमेल पर हमें वापस आ जाओ
    पता donegalgroupint@gmail.com


    Hello, this is Donegal financial group. A reputable, legitimate &
    accredited lender. We give out loan of all kinds in a very fast and
    easy way. We offer both commercial loan, business loan, Debt
    Consolidation, student loan or any kind of loan of your choice at 2%
    interest rate. If you are Interested get back to us on this Email
    address donegalgroupint@gmail.com

    ReplyDelete
  9. हैलो, यह डोनेगल वित्तीय समूह है एक सम्मानित, वैध और
    मान्यता प्राप्त ऋणदाता हम सभी प्रकार के ऋण को बहुत तेज में देते हैं और
    आसान तरीका। हम दोनों वाणिज्यिक ऋण, व्यापार ऋण, ऋण की पेशकश करते हैं
    समेकन, छात्र ऋण या अपनी पसंद के किसी भी प्रकार के ऋण पर 2%
    ब्याज दर। यदि आप रुचि रखते हैं तो इस ईमेल पर हमें वापस आ जाओ
    पता donegalgroupint@gmail.com


    Hello, this is Donegal financial group. A reputable, legitimate &
    accredited lender. We give out loan of all kinds in a very fast and
    easy way. We offer both commercial loan, business loan, Debt
    Consolidation, student loan or any kind of loan of your choice at 2%
    interest rate. If you are Interested get back to us on this Email
    address donegalgroupint@gmail.com

    ReplyDelete
  10. DO YOU NEED A LOAN? Getting a legitimate loan have always been a huge problem To clients who have financial problem and need solution to it. The issue of credit and collateral are something that clients are always worried about when seeking a loan from a legitimate lender. But.. we have made that difference in the lending industry. We can arrange for a loan from the range of $10,500. to $9500,000.000 as low as 3%interest Kindly respond immediately to this email:  Payoneercardservice@gmail.com

    Our Services Include the Following:
    Debt Consolidation
    Second Mortgage
    Business Loans
    Personal Loans
    International Loans
    Loan for any kinds
    Family loan
    E.T.C
    No social security and no credit check, 100% Guarantee. All you have to do is let us know exactly what you want and we will surely make your dream come true. (LEND UP LOAN COMPANY). says YES when your banks say NO. Lastly, we fund small scale loan firm, intermediaries, small scale financial institutions for we have unlimited capital. For further details to go about procuring a loan contact us, Kindly respond immediately to this email:  Payoneercardservice@gmail.com

    ReplyDelete
  11. नमस्ते
    क्या आपको अपनी संतुष्टि के लिए एक आरामदायक ऋण की आवश्यकता है? क्या आपके पास वित्तीय कठिनाइयों हैं और उन्हें हल करने में सहायता की आवश्यकता है? हम स्थानों और अंतरराष्ट्रीय उधारकर्ताओं के लिए उपलब्ध 2% ब्याज दर पर सस्ती ऋण प्रदान करते हैं।
    हम प्रमाणित, विश्वसनीय, विश्वास-शब्दपूर्ण, कुशल, फास्ट और डायनेमिक हैं, और हम अपने लक्ष्यों को प्राप्त करने में अपने ग्राहकों को संतुष्ट करने का प्रयास करते हैं ... हम ऋण को 2-50 वर्षों की अधिकतम अवधि में अधिकतम देते हैं ...
    हमसे संपर्क करें (Johnfarrisfinance@gmail.com) .....

    सादर!

    ReplyDelete
  12. नमस्कार
    मैं एक फाइनेंसर मैं ऋण ब्याज दर के साथ बाहर उधार देने को तैयार हूँ हूँ
    3% की और साथ में राशि की 5,000 डॉलर के लिए $500000000 प्रस्ताव के रूप में हो सकता है, मैं
    लोगों, कंपनियों, कंपनियों, सभी प्रकार की सभी श्रेणियों के लिए ऋण की पेशकश की
    व्यापार संगठनों, निजी व्यक्तियों और अचल संपत्ति निवेशकों,
    मैं बहुत ही सस्ते और उदार दरों पर ऋण देते हैं।
    मैं एक प्रमाणित, पंजीकृत और कानूनी ऋणदाता रहा हूँ। आप मुझसे संपर्क कर सकते हैं
    यदि आप इस ऋण प्राप्त करने में रुचि रखते हैं, आज मुझे अधिक जानकारी के लिए संपर्क करें
    लोन की प्रक्रिया, ऋण शर्तों की तरह प्रक्रिया के बारे में जानकारी और
    शर्तों और कैसे ऋण आप के लिए हस्तांतरित किया जाएगा। मैं की जरूरत है अपने
    यदि आप रुचि रखते हैं, तो तत्काल प्रतिक्रिया। तुम मुझे इस के साथ संपर्क करने के लिए कर रहे हैं
    ईमेल: dawsonmccarthyloanfirm@gmail.com
    धन्यवाद.

    ReplyDelete

आप के विचार!

विविधा

आओ प्यारे कम्प्युटर पर बाघ बचायें!
अरूणेश सी दवे, जहाँ तक रही बात प्रबुद्ध बाघ प्रेमियों की जो नचनियों की तरह सज-धज कर जंगल कम इन्टरनेट पर ज्यादा अवतरित होते हैं, तो उनके लिये मै इंटरनेट मे वर्चुअल अबुझमाड़ बनाने का प्रयास कर रहा हूं । ताकि वो अपनी कोरी कल्पनाओं और वर्चुअल प्रयासों को इस आभासी दुनिया में जाहिर कर अपनी ई-कीर्ति बढ़ा सकें।

सामुदायिक पक्षी सरंक्षण
पक्षियों के संरक्षण का जीवन्त उदाहरण: ग्राम सरेली कृष्ण कुमार मिश्र, लखीमपुर खीरी* उन्नीसवी सदी की शुरूवात में ब्रिटिश हुकूमत के एक अफ़सर को लहूलुहान कर देने से यह गाँव चर्चा में आया मसला था।
तो फ़िर उनसे सीखा हमने योग!
धीरज वशिष्ठ* 84 लाख प्रजातियां और 84 लाख योगासन: पक्षियों-जानवरों से सीखा हमने आसन: धार्मिक चैनलों और बाबा रामदेव के कार्यक्रमों ने आज योग को घर-घर तक पहुंचा दिया है।
नही रहा सुमित!
दुधवा लाइव डेस्क* हाँ हम बात कर रहे है उस हाथी कि जो दो मई २०१० को लखनऊ चिड़ियाघर से दुधवा नेशनल पार्क भेजा गया था! वजह साफ़ थी, कि अब वह बूढ़ा हो गया था