वन्य जीवन एवं पर्यावरण

International Journal of Environment & Agriculture ISSN 2395 5791

Breaking

ये जंगल तो हमारे मायका हैं

बीती सदी में बापू ने कहा था

"किसी राष्ट्र की महानता और नैतिक प्रगति को इस बात से मापा जाता है कि वह अपने यहां जानवरों से किस तरह का सलूक करता है"- मोहनदास करमचन्द गाँधी

इतिहास

History
they are there to teach you the way of life. There is a wealth of knowledge that is openly accessible in nature. Our ancestors knew this and embraced the natural cures found in the bosoms of the earth. Their classroom was nature. They studied the lessons to be learned from animals. Much of human behavior can be explained by watching the wild beasts around us. They are constantly teaching us things about ourselves and the way of the universe, but most people are too blind to watch and listen.
Suzy Kassem


हिमालय की तराई में प्राकृतिक इतिहास के दस्तावेजीकरण का एकमात्र जर्नल दुधवा लाइव

We are what we repeatedly do. Excellence, then, is not an act, but a habit. - Aristotle
 “Ethically they had arrived at the conclusion that man’s supremacy over the lower animals meant not that the former should prey upon the latter, but that the higher should protect the lower,”
― Mahatma Gandhi, Autobiography: The Story of My Experiments with Truth


DudhwaLive Desk

जर्मनी द्वारा अंतर्राष्ट्रीय पुरस्कार "द बॉब्स" से सम्मानित पत्रिका "दुधवा लाइव"

मुद्दा

क्या खत्म हो जायेगा भारतीय बाघ
कृष्ण कुमार मिश्र* धरती पर बाघों के उत्थान व पतन की करूण कथा:

दुधवा में गैडों का जीवन नहीं रहा सुरक्षित
देवेन्द्र प्रकाश मिश्र* पूर्वजों की धरती पर से एक सदी पूर्व विलुप्त हो चुके एक सींग वाले भारतीय गैंडा

हस्तियां

पदम भूषण बिली अर्जन सिंह
दुधवा लाइव डेस्क* नव-वर्ष के पहले दिन बाघ संरक्षण में अग्रणी भूमिका निभाने वाले महा-पुरूष पदमभूषण बिली अर्जन सिंह

एक ब्राजीलियन महिला की यादों में टाइगरमैन बिली अर्जन सिंह
टाइगरमैन पदमभूषण स्व० बिली अर्जन सिंह और मैरी मुलर की बातचीत पर आधारित इंटरव्यू:

Post Top Ad

Your Ad Spot