वन्य जीवन एवं पर्यावरण

International Journal of Environment & Agriculture ISSN 2395 5791

Breaking

ये जंगल तो हमारे मायका हैं

बीती सदी में बापू ने कहा था

"किसी राष्ट्र की महानता और नैतिक प्रगति को इस बात से मापा जाता है कि वह अपने यहां जानवरों से किस तरह का सलूक करता है"- मोहनदास करमचन्द गाँधी

Mar 30, 2011

गोमती की कथा-व्यथा

March 30, 2011 0
प्र दूषण और अवैध कब्जौं के चलते घुट रही गोमती की सांस - गोमती यात्रा करेगी आक्सीजन का काम हरिओम त्रिवेदी पुवायां (शाहजहांपुर)। इंद्र भगवान...
Read more »

Mar 26, 2011

Mar 24, 2011

पानी की बूँद-बूँद को महरूम है बुन्देलखण्ड के बाशिन्दें ?

March 24, 2011 2
जल संकट और पलायन ने होली से महरूम किया !   १-   जल आपदा के साथ दलित पलायन का गढ़ है गोखरही २-  त्रिस्तरीय ग्राम पंचायत चुनाव 2010-11 के समय ...
Read more »

Mar 23, 2011

Mar 22, 2011

हमारे घर का यह परिन्दा आखिर कैसे हुआ हमसे दूर ?

March 22, 2011 0
----गौरैया की घटती तादाद की कुछ वजहें, बता रहे है भारतीय प्रौद्यगिकी संस्थान नई दिल्ली के शोध छात्र अनिल प्रताप सिंह  पिछले कुछ सालों में...
Read more »

Mar 21, 2011

जानवरों के लिए डगर...

March 21, 2011 1
विश्व-प्रकति निधि ने नेपाल के गाँव धनबेलियां में की बैठक बसंता वनक्षेत्र सामुदायिक वन समन्वय समिति हसुलिया कैलाली द्वारा ग्राम धन बेलिया वन...
Read more »

यहाँ भी हैं परिन्दों को दाना-पानी देने का दस्तूर...

March 21, 2011 0
....जीवों के प्रति यह सौहार्दपूर्ण बरताव बता रहा कि इन्सानियत जिन्दाबाद !! विश्व गौरैया दिवस 20 मार्च के उपलक्ष्य में पक्षी प्रेम की एक मिसा...
Read more »

Mar 18, 2011

घर के इस परिन्दे को बचाने की एक मुहिम- गौरैया दिवस- 20 मार्च

March 18, 2011 1
अन्तर्राष्ट्रीय गौरैया दिवस- 20 मार्च  दुधवा लाइव ई-पत्रिका ने  पूरे वर्ष गौरैया सरंक्षण  का जन-अभियान चलाकर मनाया गौरैया वर्ष- 2010 दुधवा ...
Read more »

Mar 14, 2011

तेंदुए के दो शावकों की ग्रामीणों ने पीट-पीट कर ली जान

March 14, 2011 3
फ़ोटो: मो० ज़ैद खान (गिरिजापुरी कालोनी बहराइच ) दुधवा के इतिहास में एक और दर्ज हुआ  काला अध्याय   कतर्निया रेंज में नही रूक रहा मानव- बाघ...
Read more »

Mar 10, 2011

माता का वाहन खतरें में !

March 10, 2011 0
माता पार्वती का वाहन संकट - बाघ संरक्षण पर एक व्यंग - अरूणेश सी दवे वनविभाग के कुख्यात अधिकारी पन्नाश्री पाबला जी के दफ़्तर के सामने  शेहल...
Read more »

Mar 7, 2011

Mar 5, 2011

Mar 1, 2011

मरती नदियां मरते लोग..

March 01, 2011 1
नदी बांध परियोजनायें है पानी व किसान की मौत ! मर रही नदियों का जिम्मेदार कौन? प्रवास संस्था ने नदियों को बचाने का लिया संकल्प... तो फि...
Read more »

जर्मनी द्वारा अंतर्राष्ट्रीय पुरस्कार "द बॉब्स" से सम्मानित पत्रिका "दुधवा लाइव"

मुद्दा

क्या खत्म हो जायेगा भारतीय बाघ
कृष्ण कुमार मिश्र* धरती पर बाघों के उत्थान व पतन की करूण कथा:

दुधवा में गैडों का जीवन नहीं रहा सुरक्षित
देवेन्द्र प्रकाश मिश्र* पूर्वजों की धरती पर से एक सदी पूर्व विलुप्त हो चुके एक सींग वाले भारतीय गैंडा

हस्तियां

पदम भूषण बिली अर्जन सिंह
दुधवा लाइव डेस्क* नव-वर्ष के पहले दिन बाघ संरक्षण में अग्रणी भूमिका निभाने वाले महा-पुरूष पदमभूषण बिली अर्जन सिंह

एक ब्राजीलियन महिला की यादों में टाइगरमैन बिली अर्जन सिंह
टाइगरमैन पदमभूषण स्व० बिली अर्जन सिंह और मैरी मुलर की बातचीत पर आधारित इंटरव्यू:

Post Top Ad

Your Ad Spot