वन्य जीवन एवं पर्यावरण

International Journal of Environment & Agriculture ISSN 2395 5791

Breaking

ये जंगल तो हमारे मायका हैं

बीती सदी में बापू ने कहा था

"किसी राष्ट्र की महानता और नैतिक प्रगति को इस बात से मापा जाता है कि वह अपने यहां जानवरों से किस तरह का सलूक करता है"- मोहनदास करमचन्द गाँधी

Nov 29, 2010

Nov 21, 2010

दुधवा में असफ़ल पर्यटन !

November 21, 2010 2
विदेशी पर्यटकों को लुभाने में असफल रहा दुधवा नेशनल पार्क विश्व पर्यटन मानचित्र पर स्थापित उत्तर प्रदेश का एकमात्र विख्यात दुधवा नेशनल पार्क...
Read more »

Nov 19, 2010

दुधवा लाइव पत्रिका के एडिटोरियल बोर्ड का गठन

November 19, 2010 8
दुधवा लाइव के संपादकीय मंडल का गठन: १८ नवम्बर २०१० को दुधवा लाइव ई-पत्रिका एडिटोरियल बोर्ड के गठन का कार्य संपन्न हुआ। दुधवा लाइव को एक वर्...
Read more »

Nov 17, 2010

हल्कू बैगा और बाघ की नाक

November 17, 2010 15
एक जवान बाघिन कुछ दूर पर मौजूद हिरणों को देखकर जैकबसन आर्गन का इस्तेमाल करती हुई--फ़ोटो: अरूणेश सी दवे हल्कू बैगा और बाघ की नाक - एक घटना...
Read more »

Nov 16, 2010

Nov 15, 2010

दुधवा लाइव चैनल

November 15, 2010 4
Dudhwa Live Channel             दुधवा लाइव चैनल के सभी वीडियो/ डाक्युमेन्ट्री फ़िल्म देखने के लिये यहाँ क्लिक करे । सामुदायिक पक्षी सरं...
Read more »

Nov 14, 2010

मुसलसल बदलती दुनिया में ज्ञान का अलबेला संसार !

November 14, 2010 1
गाँव के वन और वन्य जीव  "सोपान Step पत्रिका में इन्टरनेट के आभासी संसार पर विशेष सामग्री के साथ अक्टूबर २०१० के इस अंक में  दुधवा लाइ...
Read more »

Nov 10, 2010

Nov 8, 2010

खवासा का आदमखोर

November 08, 2010 6
खवासा (करवासा) का नर-भक्षी:  जब महिलायें पड्डे की जगह इस्तेमाल हो जाती थी। - मौत के तांडव को रोकने के लिए औरतें देती थी अपनी जान की कुर्बान...
Read more »

Nov 6, 2010

टाइगर हैवन

November 06, 2010 1
जहाँ मनुष्य और बाघ एक साथ रहते थे। द्वितीय विश्व युद्ध के समाप्त होने के बाद लेफ़्टीनेंट बिली अर्जन सिंह खीरी जनपद में खेती करने के उद्देश...
Read more »

जर्मनी द्वारा अंतर्राष्ट्रीय पुरस्कार "द बॉब्स" से सम्मानित पत्रिका "दुधवा लाइव"

मुद्दा

क्या खत्म हो जायेगा भारतीय बाघ
कृष्ण कुमार मिश्र* धरती पर बाघों के उत्थान व पतन की करूण कथा:

दुधवा में गैडों का जीवन नहीं रहा सुरक्षित
देवेन्द्र प्रकाश मिश्र* पूर्वजों की धरती पर से एक सदी पूर्व विलुप्त हो चुके एक सींग वाले भारतीय गैंडा

हस्तियां

पदम भूषण बिली अर्जन सिंह
दुधवा लाइव डेस्क* नव-वर्ष के पहले दिन बाघ संरक्षण में अग्रणी भूमिका निभाने वाले महा-पुरूष पदमभूषण बिली अर्जन सिंह

एक ब्राजीलियन महिला की यादों में टाइगरमैन बिली अर्जन सिंह
टाइगरमैन पदमभूषण स्व० बिली अर्जन सिंह और मैरी मुलर की बातचीत पर आधारित इंटरव्यू:

Post Top Ad

Your Ad Spot